BENEFITS OF GINGER

आयुर्वेद में अदरक के गुणों के बारे में कई अच्छी बातें बताई गई हैं, जो आपके लिए बेहद जरूरी हैं। अदरक के औषधीय गुणों का लाभ आप भूख न लगना, अपच, वात-पित्त दोष आदि में ले सकते हैं। घाव, पथरी, बुखार, रक्ताल्पता और मूत्र रोगों में भी अदरक का लाभ ले सकते हैं। यहां एक-एक करके बता दें कि अदरक का सेवन कई बीमारियों में फायदेमंद होता है।

खांसी में अदरक के फायदे

गले में खराश और जलन को शांत करने के लिए अदरक का उपयोग किया जा सकता है। यह सर्दी के कारण होने वाली खांसी को दूर करने में भी सहायक है। यह फेफड़ों से बलगम को निकालता है और खांसी से राहत देता है।

सर्दी और फ्लू में अदरक के फायदे

अदरक का इस्तेमाल लंबे समय से सर्दी-जुकाम होने पर घरेलू उपचार के तौर पर किया जाता रहा है। अदरक में एंटी-वायरल, एंटी-टॉक्सिक और एंटी-फंगल गुण होते हैं। साथ ही अदरक के सेवन से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है। जिससे शरीर सर्दी-जुकाम आदि से लड़ने में सक्षम हो जाता है।

त्वचा के लिए फायदेमंद है अदरक

अदरक में एंटीऑक्सीडेंट और जिंक होता है, जो त्वचा की जलन को कम करता है और राहत प्रदान करता है। अदरक के टुकड़े को त्वचा पर मलने से दाग-धब्बे और खुजली की समस्या कम हो जाती है।

अदरक के रस में नींबू और शहद मिलाकर चेहरे पर लगाने से मुंहासे दूर होते हैं और रंग साफ होता है। यह मिश्रण त्वचा से झुर्रियों को दूर करता है और त्वचा में कसावट लाता है।

 पाचन में सुधार करने के लिए

अदरक पेट से जुड़ी कई समस्याओं में फायदा करता है। उदाहरण के लिए कब्ज, पेट दर्द, पेट में ऐंठन, पेट में ऐंठन और गैस बनना आदि। यह अपच की समस्या को दूर करने में भी सहायक है। साथ ही यह पाचन क्रिया को मजबूत करने का भी काम कर सकता है। इसके लिए स्वास्थ्य विशेषज्ञ अदरक के रस में काला नमक और नींबू मिलाकर पीने की सलाह देते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *